समर्थक

सोमवार, 18 जुलाई 2016

ख्वाब

Image result for clip art sapne

हसीन  ख्वाब आते हैं 
और चले जाते हैं 
वास्तविकता के दर्द के परे 
ये अपनी ही दुनिया बनाते हैं 
स्थितियों का कोई दरवाजा 
इन्हें रोक नहीं पाता 
दिमाग में झलकती एक 
छाया  की खुशबू ही पर्याप्त है........  
इन्हें अपना धर्म 
निभाने देने के लिए
कर्म  करते बंद आँखों का 
इन्तजार भी इनसे नहीं होता
खुली आंखें भी इस धर्म 
का हिस्सा बन जाती हैं 
वास्तविकता से एक नाता 
इनका अवश्य रहता है 
यदि ये दिमाग में रहे तो 
बुलबुले से फूट बिखर जाते हैं ,
और कहीं ह्रदय में पहुंचे तो ,  कभी 
हिम श्रृंखला छूने को मज़बूर करते 
कभी टेलीफ़ोन हवाई जहाज की शक्ल 
में ढल के संसार में बिखर जाते हैं। ...... 
    

सोमवार, 18 अप्रैल 2016

मेरी दुनिया

Image result for clip art sapno ki duniya
अपनी सपनीली दुनिया की 
 मैं अकेली परी हूँ


यहाँ फूल मुस्काते 
हैं पेड़ खिलखिलाते 

हर एक पहाड़ 
 हैं वादियों में गीत गाते

हवाएँ  जब चलती 
हैं ठुमककर  लहराती 

प्रकृति मगन हो 
शांति  गुनगुनाती 

आसमां  का विस्तार  
बाँहों में नाप पाती 

पिता सा वृहद् रूप 
हूँ उसमें  ही पाती 

धरती की गोदी में 
झूलती है ये हस्ती 

घूमती फिरती हूँ 
निडर हो मैं  हँसती 

भौरें संदेशा  सुनाते 
पंख तितलियों के 
मुझको लुभाते 

जब भी मैं गुमसुम हूँ 
बैठी पकड़े किनारा 

छेड़ना मुझे कभी  ना
वहीँ होता अस्तित्व सारा 

उस दुनिया की सैर से
जब आती यहाँ पर

लगता है यह संसार 
मुझको प्यारा  प्यारा 







चित्र साभार गूगल 

मंगलवार, 16 फ़रवरी 2016

खुशियां बताती हैं....

Image result for picture sorrow
खुशियां बताती हैं 
 मुझे हर रोज़

दोस्ती करनी है तो 
उन ग़मों से कर

जो तेरे हर पल 
के साथी हैं  

जा, दूर दूर तक 
मेरा और तेरा 
कोई नाता नहीं 

अनदेखी कर 
हर एक बात 

वो तो मैं  ही हूँ 
जो हर दिन 

बहनापा दिखा
सटी जाती हूँ    



रविवार, 3 जनवरी 2016

दोष किसका ?



उन  आँखों में 
तिरता प्रश्न देखकर, 
इन आँखों पर 
शुबहा होता है!  


क्यों ये प्रश्न 
पाती  हैं वहाँ ? 


सब इन्हीं आँखों का 
बिछाया धोखा है। 


उठते ही जब
 ये गिरती हैं। 
छिपती  हैं, 
कहीं खोती  हैं। 


हलचल होती है, 
किसी दिल में।  


नादान  प्रश्न भेजता
 है आँखों में। 


अब प्रश्न आया 
तो दोष किसका  ?


इन आँखों का, 
या उन  आँखों का ? 


आप कहते हैं, 
 दोष इनका। 
अपराधी हैं  ये 
सन्देश भेजने की। 


ये कहती हैं, इस 
गुनाह में साथ किसका ? 

(चित्र साभार गूगल )